more

Thursday, 13 June 2013

जंक जूइॅल्रि का जलवा

जंक जूइॅल्रि का जलवा
चंकी ब्रेसलेट, फंकी ईयरिंग्स, कलरफुल स्टोन्स वाले नेकलेस और बड़े मेटैलिक पेंडेंट इत्यादि आजकल हैं युवतियों की पसंद। हो, भी क्यों न, इनका अंदाज जो इतना निराला है। सोने चांदी की जूइॅल्रि की भांति ये बेहद कीमती तो नहीं होती, पर इन्हें पहनने से बढ़ जाती है पहनावे की शान। यही वजह है कि जंक जूइॅल्रि को कॉस्ट्यूम जूइॅल्रि भी कहा जाता है। तभी तो शैनल, डियोर जैसे बड़े फैशन घरानों ने भी अपने स्टोर्स में उतारी है फंकी जंक जूइॅल्रि। वैसे इसकी शुरुआत हुई थी 19वीं सदी से। बेशकीमती स्टोन्स की जूइॅल्रि महंगी होने के कारण सीमित आय के लोगों के लिए उन्हें खरीदना था मुश्किल, तभी कारीगरों ने पेश किया जंक जूइॅल्रि का विकल्प। भले ही ये जूइॅल्रि सस्ती थी, पर इसका आकर्षण अधिक था। यही वजह रही कि बड़े फैशन हाउस भी इसके निर्माण में आगे आए और एलिजाबेथ टेलर और ऑद्रे हैपबर्न जैसी हॉलीवुड अभिनेत्रियों ने बनाया इन्हें अपना स्टाइल स्टेटमेंट। फैशन विशेषज्ञों की मानें तो यह जंक जूइॅल्रि परिभाषित करती है आपके व्यक्तित्व की स्मार्टनेस को।